यहाँ होती है चोरो की की भर्ती मिलते हैं 6 महीनों के 12 लाख

Hiring a Thief : अपने कभी चोरो की हायरिंग के बारे में सुना है , नहीं न पर ये सच है | आपको बता दे की जिन चोरो की हायरिंग की बात हम कर रहे है वो कोई बड़े चोर नहीं बल्कि बच्चे है , जिन्हे 6 महीनों के लिए 12 लाख रुपये तक के पैकेज पर हायर किया जाता है .
पूरी खबर आगे पढ़िए ....

ये मामला है भारत की राजधानी दिल्ली का जहाँ ऐसे चोरो के गैंग है जो की बच्चो की मदद से चोरी को अंजाम देते है | ये लोग बच्चो की मदद से बड़े-बड़े फार्म हाउसों और बैंक्वेट हॉल में होने वाली शादियों में चोरी करते है | बताया जा रहा है की इन बच्चो को ख़ास तौर पर शगुन का बैग उड़ाने के लिए ट्रेनिंग दी जाती है।

हाल ही में इस गैंग का लीडर राका को साउथ-वेस्ट जिला पुलिस गिरफ्तार किया जिसमे उसने पुलिस को बताया की , " मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के ऐसे तीन गांव हैं, जहां 7 से 15 साल तक के बच्चों को बड़ी शादियों में दुल्हन पक्ष का बैग चुराने की ट्रेनिंग दी जाती है जिसमें शगुन, जूलरी और अन्य कीमती सामान रखा जाता है। इन बच्चों को सिखाया जाता है कि हर-हाल में उन्हें वो शगुन का बैग चुराना है |

आगे राका ने बताया की मध्य प्रदेश के गाँव में इन बच्चो की बोली लगती है , जोकि 2 से 12 लाख रुपये के बीच होती है | राका ने  पुलिस को बताता की लग-भग 70 बच्चो को दिल्ली लाया गया है और सिर्फ दिल्ली ही नहीं बल्कि इन बच्चो को  मुंबई और राजस्थान के जयपुर और उदयपुर में भी भेजा जाता है  

loading...