कभी आपके दिमाग में या बात आई की आखिर क्यों जनरल डिब्बे हमेशा ट्रेन के आगे और पीछे ही क्यों होते है ? Indian Railway Coach System

अगर आपको अभी भी इस प्रश्न का उत्तर नहीं मिला है तो इस पोस्ट को पूरा पढ़े और जानिए की आखिर क्यों ये जनरल डिब्बे हमेशा ट्रेन के आगे और पीछे ही क्यों होते है ? ये कभी बीच में क्यों नहीं होते ?

हम लोग कितनी ही बार ट्रेन से सफर करते है और हम में से कई लोगो ये प्रश्न ज़रूर करता है. तो इसका जवाब बहुत आसान है मगर उससे पहले हम आपको रेल गाड़ी का एक चित्र दिखाते है इससे आपको हमारी बात समझने में आसानी होगी .

जैसे की आपने देखा की ट्रेन में जनरल डिब्बे या तो आगे होते है या तो पीछे लगे होते है और इसके पीछे कारण ये है की जनरल डिब्बे एक दूसरे से लिंक्ड नहीं होते , जिस तरह से बाकी डिब्बे होते है. अगर आपने कभी  ट्रेन से सफर किया है तो आपको पता होगा की ट्रेन में कई डिब्बे एक दूसरे से लिंक्ड होते है जिसकी वजह से    आप आसानी से एक डिब्बे से दूसरे डिब्बे में जा सकते है.

वही बात करे जनरल डिब्बों की तो वह एक दूसरे से लिंक्ड नहीं होते,  चलिए मान लेते है की अगर जनरल डिब्बों को बीच में लगा दिया जाए तो इससे सबसे ज़्यादा परेशान टीटीई होंगे क्योंकि उन्हें  इसके बाद टिकट चेक करने के लिए हर स्टेशन पर उतरकर एक डिब्बे  से दूसरे डिब्बे में चढ़ना पड़ेगा और इसमें सबसे महत्वपूर्ण बात ये  है की अगर जनरल डिब्बों को भी वेस्टिब्यूल की सहायता से बाकी डिब्बों  से जोड़ दिया जाएगा तो कोई भी सामान्य यात्री स्लीपर कोच मे चला जाएगा जिसके कारण वहाँ यात्रीओ को असुविधा होगी।

loading...